‘नो मनी फॉर टेरर’ सम्मेलन में PM मोदी की हुंकार, कहा- आतंकवाद का खात्मा होने तक चैन से नहीं बैठेंगे – pm narendra modi speech at no money for terror ministerial conference counter terrorism financing in delhi – News18 हिंदी


नई दिल्ली: टेरर फंडिंग रोकने के लिए आज से देश की राजधानी दिल्ली में ‘नो मनी फॉर टेरर’ सम्मेलन का आगाज हो गया. आतंकवाद के वित्तपोषण से निपटने के तरीकों पर चर्चा के आयोजित दो दिवसीय ग्लोबल मीटिंग में 75 देशों और अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं. हालांकि, इस मीटिंग से चीन ने दूरी बना ली है. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘आतंकवाद के लिए कोई धन नहीं: आतंकवाद के वित्तपोषण से मुकाबले के लिए मंत्रियों का सम्मेलन’ को संबोधित किया.

PM Modi Address at ‘No Money for Terror’ Conference: पीएम मोदी के संबोधन की खास बातें:

-आतंकवाद के खिलाफ लड़ना और आतंकी के खिलाफ लड़ना दोनों अलग चीजें हैं. आतंकवाद का दीर्घकालिक प्रभाव गरीब और स्थानीय अर्थव्यवस्था पर अधिक पड़ता है.

-पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंकवाद वैश्विक खतरा है. यह मानवता, स्वतंत्रता और सभ्यता पर हमला है. आतंकवाद की कोई सीमा नहीं होती. केवल एक समान, एकीकृत और जीरो टॉलरेंस का दृष्टिकोण ही आतंकवाद को हरा सकता है.

-नो मनी फॉर टेरर सम्मेलन में पीएम मोदी ने हुंकार भरते हुए कहा कि जब तक आतंकवाद का सफाया नहीं हो जाता, हम तब तक चैन से नहीं बैठेंगे.

-पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद मानवता के लिए खतरा है और भारत लंबे समय से आतंकवाद को झेल रहा है. हमें आतंकवाद के खतरे से सावधान रहना होगा.

-नो मनी फॉर टेरर सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह सम्मेलन भारत में हो रहा है. हमारे देश ने आतंक की भयावहता का सामना बहुत बार और पहले किया, जब दुनिया ने इसे गंभीरता से लिया. दशकों से विभिन्न रूपों में आतंकवाद ने भारत को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की लेकिन हमने आतंकवाद का बहादुरी से मुकाबला किया है.

भारत कर रहा तीसरे सम्मेलन की मेजबानी
पीएमओ यानी प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, 18-19 नवंबर को आयोजित यह दो दिवसीय सम्मेलन भाग लेने वाले देशों और संगठनों को आतंकवाद-रोधी वित्तपोषण पर मौजूदा अंतरराष्ट्रीय शासन की प्रभाव क्षमता के साथ-साथ उभरती चुनौतियों के समाधान व आवश्यक कदमों पर विचार-विमर्श करने के लिए एक अनूठा मंच प्रदान करेगा. यह तीसरा मंत्री स्तरीय सम्मेलन है. इससे पहले यह सम्मेलन अप्रैल 2018 में पेरिस में और नवंबर 2019 में मेलबर्न में आयोजित किया गया था.

450 प्रतिनिधि ले रहे हैं भाग
पीएमओ ने कहा कि राजधानी दिल्ली में आयोजित सम्मेलन में पूर्व के सम्मेलनों के अनुभव और सीख को आगे बढ़ाया जाएगा और आतंकवादियों को वित्त से वंचित करने तथा वैश्विक सहयोग बढ़ाने की दिशा में विचार-विमर्श करेगा. सम्मेलन में दुनिया भर के लगभग 450 प्रतिनिधि भाग लेंगे. इनमें मंत्री, बहुपक्षीय संगठनों के प्रमुख और वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख शामिल हैं.

सम्मेलन में चार सत्रों पर विचार-विमर्श
सम्मेलन के दौरान चार सत्रों में विचार-विमर्श किया जाएगा, जो ‘आतंकवाद और आतंकवादी वित्तपोषण में वैश्विक रुझान’, ‘आतंकवाद के लिए धन के औपचारिक और अनौपचारिक चैनलों का उपयोग’, ‘उभरती प्रौद्योगिकियां और आतंकवादी वित्तपोषण’ और ‘आतंकवादी वित्तपोषण का मुकाबला करने में चुनौतियों के समाधान के लिए अंतरराष्ट्रीय सहयोग’ पर केंद्रित होंगे.

Tags: PM Modi, Pm narendra modi, Terrorism



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *