क्या डायबिटीज के मरीजों के लिए केला खाना सुरक्षित? सभी को जाननी चाहिए ये बातें


हाइलाइट्स

डायबिटीज के मरीज अपनी डाइट में केले को मॉडरेशन में शामिल कर सकते हैं.
डायबिटीज के मरीजों को केला का सेवन बेहद कम मात्रा में ही करना चाहिए.

Banana In Diabetes: डायबिटीज के पेशेंट्स के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाना बेहद जरूरी है ताकि उनका ब्लड शुगर लेवल सही रह सके. ब्लड शुगर मैनेजमेंट से डायबिटीज के कारण होने वाली मेडिकल कॉम्प्लीकेशन्स के जोखिम को भी कम किया जा सकता है. इसके लिए रोगी को अपने खानपान का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है. उन्हें ऐसे फूड्स का सेवन सीमित मात्रा में या करना ही नहीं चाहिए जिनसे ब्लड शुगर बढ़ सकती है. बनाना यानी केले में कार्बोहाइड्रेट और शुगर की मात्रा अधिक होते हैं, जो ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकते हैं. इसके बावजूद भी क्या केले का सेवन डायबिटीज की स्थिति में क्या जा सकता है या नहीं? आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से.

क्या डायबिटीज में केला खाना सुरक्षित है?
मेडिकल न्यूज टुडे के अनुसार डायबिटीज के रोगी भी अपनी बैलेंस डायट में केले को मॉडरेशन में शामिल कर सकते हैं. बनाना में मौजूद विटामिन, मिनरल और फाइबर के कई हेल्थ बेनिफिट्स हैं. केले में सिंपल कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं, जो अन्य न्यूट्रिएंट्स की तुलना में ब्लड शुगर लेवल के बढ़ने का कारण बन सकते हैं. शुगर और स्टार्च के साथ ही बनाना में कुछ फाइबर भी होते हैं. इसका अर्थ है कि केले में मौजूद शुगर धीरे-धीरे डाइजेस्ट और एब्जॉर्ब होती है, जिससे ब्लड शुगर स्पाइक्स से बचा जा सकता है. ग्रीन बनाना में रेसिस्टेंट स्टार्च होता है जो ब्लड शुगर को नहीं बढ़ाता है और लॉन्ग-टर्म ब्लड शुगर मैनेजमेंट को सुधार सकता है. येलो बनाना में अधिक शुगर होती है जिससे ब्लड शुगर बढ़ सकती है.अगर आप डायबिटिक हैं और आपके डॉक्टर आपको केला खाने के लिए हां कहते हैं, तो केला कितना पका हुआ है और इसके साइज का ध्यान रखें ताकि आप ब्लड शुगर लेवल पर इसके प्रभाव को कम कर सकें.

इन बातों का रखें ध्यान
डायबिटीज के रोगी केला और अन्य फल मॉडरेशन में खा सकते हैं. लेकिन, अपनी डाइट में किसी भी तरह का बदलाव करने से पहले डॉक्टर से बात अवश्य करें खासतौर पर अगर आप डायबिटीज या किसी अन्य हेल्थ कंडिशंस के लिए मेडिकेशन्स ले रहे हैं. इसके साथ ही इन चीजों का भी ध्यान रखें:
-केले को किसी हेल्दी फैट या प्रोटीन सोर्स के साथ खाएं.
-अधिक पके हुए केले की जगह कम पके केले का सेवन करें.
-पोर्शन साइज का ध्यान रखें.

ये भी पढ़ें: सर्दियों में चाय से बेइंतहा मुहब्बत कहीं महंगी न पड़ जाए ! जान लें साइड इफेक्ट्स

ये भी पढ़ें: कमर के लेफ्ट-राइट साइड में दर्द को न करें इग्नोर, हो सकता है बड़ी बीमारी का संकेत

Tags: Diabetes, Health, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *