कैंसर पेशेंट्स के लिए कितनी सु‍रक्षित है एक्‍सरसाइज और कीमोथेरेपी, जानें जरूरी बात


हाइलाइट्स

कीमोथेरेपी के दौरान शरीर को सकता है अधिक कमजोर.
कीमोथेरेपी से निपटने के लिए सांस से संबंधित एक्‍सरसाइज कर सकते हैं.
थेरेपी के दौरान खून की कमी भी हो जाती है.

Is Exercise And Chemotherapy Are Safe: कैंसर एक ऐसी जानलेवा बीमारी है जिसका इलाज यदि समय रहते न किया जाए तो पेशेंट के लिए खतरनाक हो सकता है. कैंसर सेल्‍स को जलाने के लिए कीमोथेरेपी की प्रयोग किया जाता है. ये ट्रीटमेंट सेल्‍स को शरीर के अन्‍य हिस्‍सों में फैलने से रोकता है. हालांकि ये ट्रीटमेंट काफी दर्दनाक और असहनीय होता है जिसे हर पेशेंट सहन नहीं कर पाता. कीमोथेरेपी के दौरान व्‍यक्ति का शरीर जरूरत से ज्‍यादा कमजोर और ढल जाता है. कीमोथेरेपी भले ही कैंसर से छुटकारा दिला सकती है लेकिन इसके कई साइड इफेक्‍ट भी हैं जैसे- बालों का झड़ना, मुंह में छाले, शरीर में घाव और खाने में परेशानी.

कीमोथेरेपी के दौरान होने वाली समस्‍याओं से निपटने के लिए एक्‍सरसाइज एक प्रभावी तरीका हो सकता है. चलिए जानते हैं कीमोथेरेपी और एक्‍सरसाइज कितनी सुरक्षित है.

ये भी पढ़ें: सर्दियों में हल्दी वाला दूध सेहत के लिए फायदेमंद ! डाइटिशियन से जानें इसके फायदे और नुकसान

कीमोथेरेपी के साइड इफेक्‍ट
कैंसर हर साल लाखों लोगों को प्रभावित करता है. अमेरिकन कैंसर सोसाइटी ने अनुमान लगाया है कि 2021 में 610,000 लोगों की मृत्‍यु कैंसर के कारण हुई थी. मेडिकल न्‍यूज टुडे के अनुसार कैंसर का इलाज करने के कई तरीके हैं जैसे, सर्जरी और कीमोथेरेपी. हालांकि कैंसर का इलाज इसकी स्‍टेज पर निर्भर करता है. कीमोथेरेपी एक सफल उपचार है लेकिन इसके कई साइड इफेक्‍ट हैं. कीमोथेरेपी के दौरान थकान, उल्‍टी, बालों का झड़ना, मुंह में छाले और खून की कमी की समस्‍या हो सकती है.

कीमोथेरेपी के दौरान और बाद में एक्‍सरसाइज
कीमोथेरेपी के दौरान हल्‍की एक्‍सरसाइज हार्ट और अन्‍य ऑर्गेन के लिए फायदेमंद हो सकती है. कीमोथेरेपी के साथ यदि सांस से संबंधी एक्‍सरसाइज की जाएं तो जलन, दर्द और सांस की परेशानी को कम किया जा सकता है. इससे शरीर को स्‍ट्रेंथ भी मिल सकती है. पेशेंट को अधिक फिजिकल एक्टिविटी करने से बचना चाहिए. कीमोथेरेपी के दौरान एक्‍सरसाइज करना आसान नहीं है लेकिन एक्‍सपर्ट की मदद से इसका अभ्‍यास किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: सर्दियों में हल्दी वाला दूध सेहत के लिए फायदेमंद ! डाइटिशियन से जानें इसके फायदे

इन बातों का रखें ध्‍यान
कीमोथेरेपी के दौरान या बाद में केवल हल्‍की एक्‍सरसाइज की जानी चाहिए.
सांस से संबंधित एक्‍सरसाइज अधिक फायदेमंद हो सकती है.
इस दौरान हैवी फिजिकल एक्टिविटी करने से बचें.
बिना चिकित्‍सक की सलाह के एक्‍सरसाइज न करें.
अधिक समस्‍या होने पर एक्‍सरसाइज न करें.
कैंसर का ट्रीटमेंट काफी दर्दनाक होता है. ऐसे में शरीर को आराम देने के लिए हल्‍की एक्‍सरसाइज की जा सकती है. एक्‍सरसाइज करने से पहले डॉक्‍टर से परामर्श कर लें.

Tags: Cancer, Health, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *